Comments for THE OSHO सर्वाधिक आनंद उन्हें प्राप्त होता है, जो अकेले रहने की कला सीख जाते है Thu, 22 Sep 2016 02:33:01 +0000 hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.7.3 Comment on एस धम्‍मो सनंतनो–ओशो (भाग-11) by Anand Prasad Mansa /2016/09/20/%e0%a4%8f%e0%a4%b8-%e0%a4%a7%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e2%80%8d%e0%a4%ae%e0%a5%8b-%e0%a4%b8%e0%a4%a8%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%a8%e0%a5%8b-%e0%a4%93%e0%a4%b6%e0%a5%8b-%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%97-11/#comment-250 Thu, 22 Sep 2016 02:33:01 +0000 /?p=6414#comment-250 अभी पोस्‍ट कर दिया है…..आभार ओर ओशो प्रेम….स्‍वामी आनंद प्रसाद

]]>
Comment on एस धम्‍मो सनंतनो–(प्रवचन–122) by Anand Prasad Mansa /2016/09/21/%e0%a4%8f%e0%a4%b8-%e0%a4%a7%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e2%80%8d%e0%a4%ae%e0%a5%8b-%e0%a4%b8%e0%a4%a8%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%a8%e0%a5%8b-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%b5%e0%a4%9a%e0%a4%a8-122/#comment-249 Thu, 22 Sep 2016 02:31:47 +0000 /?p=6465#comment-249 नमस्‍कार मित्र ये ब्‍लाग आप सब ओशो प्रेमियों का है….मैं एक माध्‍यम हूं….कभी भी कुछ भूल चूक हो तो तुरंत लिखे….ओर आपका इस तरह से लिखने में कितना अपना पन था, आप इसे कितने होश से पढ़ते है यह जान कर मुझे अपने काम पर गर्व हो रहा है….काम की जल्‍दी की वजह से ये 62 वा प्रवचन पोस्‍ट कर रहा हूं जो रह गया था….आप उसी समय मुझे लिखे मुझे अपने पन का अहसास होगा….ओशो प्रेम आप सब पर बरसे….
स्‍वामी आनंद प्रसाद

]]>
Comment on एस धम्‍मो सनंतनो–(प्रवचन–122) by S NAGAL /2016/09/21/%e0%a4%8f%e0%a4%b8-%e0%a4%a7%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e2%80%8d%e0%a4%ae%e0%a5%8b-%e0%a4%b8%e0%a4%a8%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%a8%e0%a5%8b-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%b5%e0%a4%9a%e0%a4%a8-122/#comment-248 Wed, 21 Sep 2016 05:53:25 +0000 /?p=6465#comment-248 स्वामीजी आज यह प्रवचनमाला पूर्ण हुई। परंतु प्रवचन “एस धम्‍मो सनंतनो–(प्रवचन–६२ ) भाग ७ ” अभी तक उपलब्ध नहीं है, जब कि प्रवचन ६१ और ६३ तथा अन्य सभी प्रवचन उपलब्ध है। कृपया उपलब्ध कराये।

]]>
Comment on एस धम्‍मो सनंतनो–ओशो (भाग-11) by S NAGAL /2016/09/20/%e0%a4%8f%e0%a4%b8-%e0%a4%a7%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e2%80%8d%e0%a4%ae%e0%a5%8b-%e0%a4%b8%e0%a4%a8%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%a8%e0%a5%8b-%e0%a4%93%e0%a4%b6%e0%a5%8b-%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%97-11/#comment-247 Wed, 21 Sep 2016 05:47:40 +0000 /?p=6414#comment-247 स्वामीजी ,वेबसाइट “द ओशो कॉम ” पर प्रवचन “एस धम्‍मो सनंतनो–(प्रवचन–६२ ) भाग ७ ” उपलब्ध नहीं है, जब कि प्रवचन ६१ और ६३ उपलब्ध है। कृपया उपलब्ध कराये।

]]>
Comment on एस धम्मो सनंतनो—ओशो-(भाग—1) by Anand Prasad Mansa /2016/09/02/%e0%a4%8f%e0%a4%b8-%e0%a4%a7%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a5%8b-%e0%a4%b8%e0%a4%a8%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%a8%e0%a5%8b-%e0%a4%93%e0%a4%b6%e0%a5%8b-%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%97-1/#comment-246 Thu, 08 Sep 2016 00:50:59 +0000 /?p=5993#comment-246 बांटन वारे को लगे जो महंदी को रंग……आप सब की कृपा से मुझ पर भी बरस रहा है….ओशो का प्‍यार

]]>
Comment on एस धम्मो सनंतनो—ओशो-(भाग—1) by manish kumar /2016/09/02/%e0%a4%8f%e0%a4%b8-%e0%a4%a7%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a5%8b-%e0%a4%b8%e0%a4%a8%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%a8%e0%a5%8b-%e0%a4%93%e0%a4%b6%e0%a5%8b-%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%97-1/#comment-245 Sun, 04 Sep 2016 15:07:29 +0000 /?p=5993#comment-245 आप प्रसाद बाँटते जा रहे हो और हम पाते जा रहे हैं… धन्यवाद्

]]>
Comment on समाधि कमल–(प्रवचन–01) by Anand Prasad Mansa /2016/08/22/01/#comment-244 Thu, 01 Sep 2016 01:51:00 +0000 /?p=14#comment-244 मित्र उसपर DMRC फाईल करा कर पूना वालों ने बंद करा दिया……

]]>
Comment on समाधि कमल–(प्रवचन–01) by मुकेश /2016/08/22/01/#comment-243 Tue, 30 Aug 2016 06:47:43 +0000 /?p=14#comment-243 नमस्ते स्वामींजी,
ओशो का oshosatsang-wordpress-com वेब॒साइट पीछले १ महिने से. दिख नहि रह है, क्योंकि??

]]>